जैकेट जंपसूट

जैकेट जंपसूट

time:2021-10-16 03:47:37 आर के सिंह ने एनएचपीसी दुलहस्ती बिजली संयंत्र में जारी कार्य प्रगति की समीक्षा की Views:4591

lovebet डाउनलोड ऐप जैकेट जंपसूट 10cric निकासी प्रक्रिया,casumo आईओएस,लेवेगास उत्तर,lovebet दा दिनहिरो मेस्मो,lovebet पुरानी साइट,lovebet.com बीडी,या कैसीनो korrijk,बैकारेट गेम लाइव मनोरंजन,बैकारेट वाइन ग्लास,सट्टेबाजी संख्या समझाया,कैसीनो चिप्स सेट,कैसीनो विजेता,क्लासिकरम्मी यूट्यूब,क्रिकेट मैच लाइव,एक नंबर की पट्टी,च खेल के जूते,फुटबॉल खिलाड़ियों का नाम,उत्पत्ति कैसीनो सत्यापन,फुटबॉल पर दांव कैसे लगाएं,आईपीएल क्वालीफायर प्रारूप,जैकपॉट यंत्र लक्ष्मी परिणाम,लाइव कैसीनो APK,लॉटरी 4.6.2021,भाग्यशाली दिन कैसीनो inloggen,एनबीए ओवर एंड ओवर गोल ऑड्स,ऑनलाइन शतरंज और कार्ड गेम रैंकिंग,ऑनलाइन पोकर नो डिपॉजिट बोनस,पैरिमैच केवाईसी सत्यापन,भारत में पोकर नौकरियां,रियल टू आठ बार्स गेम डाउनलोड,शासन बहुमत,रम्मी विंगो,स्लॉट मशीन के नाम,खेल एक मैदान,स्पोर्ट्सबुक अर्थ,टेक्सास होल्डम ऑर्डर,टीआर लॉटरी परिणाम,एक अच्छा फ़ुटबॉल खाता कहाँ है,y.कैसीनो ऑनलाइन,एस्टेट जनरल क्या है,क्रिकेट ind,गोवा झील,तीन पत्ती login,बकरा ईद मुबारक,बेटिंग बैकअप नेटवर्क,लॉटरी योजना, .आर के सिंह ने एनएचपीसी दुलहस्ती बिजली संयंत्र में जारी कार्य प्रगति की समीक्षा की

नयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय बिजली मंत्री आर के सिंह ने शुक्रवार को केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा जिले में जलविद्युत कंपनी एनएचपीसी की दुलहस्ती बिजली परियोजना और किशनगंगा बिजली संयंत्र के बांध स्थल की कार्य प्रगति का जायजा लिया।

बिजली मंत्रालय के एक बयान में कहा गया, ‘‘केंद्रीय बिजली, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री आर के सिंह ने आज जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा जिले के गुरेज में 330 मेगावाट एनएचपीसी किशनगंगा बिजलीघर के बांध स्थल का दौरा किया।’’

उनके साथ बिजली मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव एस के जी रहाटे, एनएचपीसी के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक ए के सिंह और जम्मू-कश्मीर के बिजली विकास विभाग के प्रधान सचिव रोहित कंसल भी थे।

अपने दौरे के दौरान, सिंह ने बांध और स्पिलवे के विभिन्न घटकों का निरीक्षण किया।

दौरे के दौरान बिजली मंत्री ने स्थानीय लोगों के प्रतिनिधियों से भी बातचीत की।

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

As cryptocurrency bull run gets investors’ attention, smart scams, FOMO and greed are out to get you
Cryptocurrency

As cryptocurrency bull run gets investors’ attention, smart scams, FOMO and greed are out to get you

15 mins read
Ritesh Agarwal has steered Oyo from chaos to clarity. Is that enough to pull off a successful IPO?
Markets

Ritesh Agarwal has steered Oyo from chaos to clarity. Is that enough to pull off a successful IPO?

8 mins read
People vs. banks: Will the common man benefit as the transparency fight enters the last leg?
Banking

People vs. banks: Will the common man benefit as the transparency fight enters the last leg?

12 mins read

नयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) हाजिर बाजार में मजबूती के रुख के कारण सटोरियों ने ताजा सौदों की लिवाली की जिससे वायदा कारोबार में शुक्रवार को एल्युमीनियम की कीमत 1.88 प्रतिशत की तेजी के साथ 254.90 रुपये प्रति किलो हो गयी। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में अक्टूबर माह में डिलीवरी होने वाले अनुबंध के लिये एल्युमीनियम का भाव 4.70 रुपये यानी 1.88 प्रतिशत बढ़कर 254.90 रुपये प्रति किलो हो गया। इसमें 2,067 लॉट के लिये सौदे किये गये। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि हाजिर बाजार में उपभोक्ता उद्योगों की मांग बढ़ने के कारण व्यापारियोंफ्रेंकलिन टेंपलटन के इंडियन मैनेजमेंट ने घरेलू कारोबार के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई थी.घट रही है सरकारी साधारण बीमा कंपनियों की वाहन बीमा श्रेणी में हिस्सेदारी

नयी दिल्ली 15 अक्टूबर (भाषा) मजबूत हाजिर मांग के कारण कारोबारियों ने अपने सौदों के आकार को बढ़ाया जिससे वायदा कारोबार में शुक्रवार को कच्चे तेल की कीमत 54 रुपये की तेजी के साथ 6,152 रुपये प्रति बैरल हो गयी। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में कच्चातेल के अक्टूबर माह में डिलीवरी वाले अनुबंध की कीमत 54 रुपये अथवा 0.89 प्रतिशत की तेजी के साथ 6,152 रुपये प्रति बैरल हो गई जिसमें 4,683 लॉट के लिए कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि कारोबारियों द्वारा अपने सौदों का आकार बढ़ाने के कारण वायदा कारोबार में कच्चा तेल कीमतों में तेजी आई। वैश्विकसक्रिय रूप से मैनेज किए जाने वाले लार्ज कैप म्‍यूचुअल फंड के तौर-तरीकों का पिछले कुछ सालों में सभी को पता लग गया है. कुछ को छोड़ ज्यादातर स्कीमों ने प्रमुख सूचकांकों से कमतर प्रदर्शन किया है.वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

अधिकतर निवेशक इक्विटी फंड्स में निवेश करने के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान (सिप) को तरजीह देते हैं. हाल के समय में सिप को बहुत अधिक लोकप्रियता मिली है.भारतीय नियामकों का ऐसी करेंसी को लेकर रुख स्पष्ट नहीं है. उन्‍होंने साफ-साफ कुछ भी नहीं कहा है कि भारतीय इनमें ट्रेड करें या नहीं.इंटरनेशनल फंड के बारे में जानिए अपने हर सवाल का जवाब

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
ऑनलाइन लाइव बेटिंग गेम्स

फ्रेंकलिन टेंपलटन के इंडियन मैनेजमेंट ने घरेलू कारोबार के लिए अपनी प्रतिबद्धता जताई थी.

रम्मी ट्रे

अगर आप युवा (20 के पड़ाव में) हैं और रिटायरमेंट के लिए बचत शुरू करना चाहते हैं तो आपका निवेश इक्विटी म्‍यूचुअल फंड में ज्‍यादा होना चाहिए.

क्रिकेट एच स्ट्रीट

बाजार नियामक सेबी ने एक्सपेंस रेशियो की सीमा तय की हुई है. ओपन एंडेड इक्विटी स्कीम के एयूएम के आधार पर सेबी ने विभिन्न स्‍लैब बनाए हैं.

जोकर धुन

नयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) सरकार ने कहा कि यह स्तब्ध कर देने वाला है कि वैश्विक भूख सूचकांक में भारत की रैंक और घटी है और उसने रैंकिंग के लिए इस्तेमाल की गई पद्धति को ‘‘अवैज्ञानिक’’ बताया। भारत 116 देशों के वैश्विक भूख सूचकांक (जीएचआई) 2021 में 101वें स्थान पर पहुंच गया है, जो 2020 में 94वें स्थान पर था। भारत अब अपने पड़ोसी देशों पाकिस्तान, बांग्लादेश और नेपाल से पीछे है। रिपोर्ट पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने कहा कि यह ‘‘चौंकाने वाला’’ है कि वैश्विक भूख रिपोर्ट 2021 ने कुपोषित आबादी के

n लॉटरी नंबर

नयी दिल्ली, 15 अक्टूबर (भाषा) कमजोर हाजिर मांग के बीच सटोरियों द्वारा अपने सौदों का आकार घटाने से स्थानीय वायदा बाजार में शुक्रवार को सोने का भाव 501 रुपये घटकर 47,381 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में दिसंबर महीने की डिलिवरी के लिये सोने की कीमत 501 रुपये यानी 1.05 प्रतिशत घटकर 47,381 रुपये प्रति 10 ग्राम रह गई। इसमें 12,889 लॉट के लिये कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि कारोबारियों द्वारा अपने सौदों की कटान करने से सोना वायदा कीमतों में गिरावट आई। वैश्विक स्तर पर न्यूयार्क में सोने की कीमत 0.95 प्रतिशत की गिरावट

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी